जिसे माना ज़िंदगी वही बना जानी दुश्मन! लव मैरिज के बाद पति व ससुराल वालों ने बहु को जलाया

share on:

बिहार के मुंगेर जिले से दिल दहला देने वाली एक घटना सामने आ रही है। एक लड़की जिसने तकरीबन 6 माह पहले हंसी-खुशी बड़े अरमानों के साथ लव मैरिज किया था। आज उसी को ससुराल वालों ने जिंदा जला दिया। सबसे दुखद बात यह रही कि कैमरे के सामने लाइफ में बयान देते हुए ही लड़की ने दम तोड़ दिया।

घटना जिले के सफिया सराय ओपी क्षेत्र के सिंघिया मुसाहेब महत्व टोला की है। जहां सिकंदर यादव की पुत्री अंजू कुमारी (26 वर्ष) ने अपने ही गांव के युवक वीर चंद्र भारती से प्रेम विवाह किया था। अंजू के भाई नीतीश कुमार का कहना था कि दोनों की बातचीत 2 साल से हो रही थी। इंटर की पढ़ाई के दौरान वे दोनों एक दूसरे के करीब आए। जब इसकी भनक अंजू के परिजनों को हुई तो उन्होंने उसे काफी समझाया पर वह दोनों नहीं माने। दोनों एक ही जाति उसे थे तो दोनों पक्षों की रजामंदी से पिछले वर्ष दिसंबर 2022 में शादी तय की गई। शादी के वक्त वीर चंद्र ने दहेज के रूप में 5 लाख की मांग की और दहेज न देने पर शादी नहीं करने की बात कही।

वहीं नीतीश ने बताया कि बुधवार को जब बहन अंजू से बात हुई तो वह काफी डरी हुई थी। उसने बताया कि आज सुबह पति और ससुराल वालों ने उसके साथ मारपीट की है। तकरीबन 11:00 बजे दिन में उसे जानकारी मिली की उसकी बहन को ससुराल वालों ने केरोसिन तेल छिड़ककर जला दिया है। केरोसिन से जलाने के बाद इलाज के बहाने 3 घंटे तक ससुराल वाले इधर-उधर घूमते रहे। परिजन जब अंजू के ससुराल पहुंचे तो पता चला कि वह इलाज के लिए सदर अस्पताल आई है। लेकिन जब परिजन सदर अस्पताल पहुंचे तो अंजू वहां नहीं थी।

आपको बता दें कि मीडिया से बात करते हुए अंजू ने बताया कि उसका पति वीर चंद्र, ससुर जालेश्वर यादव, सास उषा देवी और ननद कंचन कुमारी उसे बहुत प्रताड़ित करते थे। कई बार उससे मारपीट करने की कोशिश की गई। उसने अपने बयान में ससुराल वाले को आरोपी बनाया है। परिजनों और अंजू के बयान पर पुलिस ने पति और ससुर को सदर अस्पताल परिसर में ही गिरफ्तार कर लिया। जबकि कैमरे के सामने बयान देने के दौरान ही अंजू ने दम तोड़ दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Leave a Response