प्रशासन के क्राइम कंट्रोल को अपराधियों ने दी चुनौती! दिनदहाड़े मेदांता की नर्स को चाकू से मारा

share on:

पटना : राजधानी पटना में एक बार फिर अपराधियों ने पुलिस को खुली चुनौती दी है। अपराधियों ने मेदांता हॉस्पिटल की नर्स को दिनदहाड़े बीच सड़क पर चाकू से गोद डाला। लोग तमाशा देखते रहे और अपराधी चाकू लहराते हुए फरार हो गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। दिनदहाड़े हुए इस वारदात से इलाके में सनसनी फैल गई है।

यह घटना उसे वक्त घटी जब नर्स अस्पताल से ड्यूटी कर हॉस्टल लौट रही थी। बताया जा रहा है कि सोनी नाम की यह नर्स पूर्णिया की रहने वाली थी और शादीशुदा थी।मौके पर पहुंची पुलिस जांच में जुट गई है। इस बाबत एसएसपी काम्या मिश्रा का कहना है कि, अस्पताल से हॉस्टल जाने के क्रम में नर्स पर हमला हुआ। प्रथम दृष्टया मामला पारिवारिक विवाद का लग रहा है।

थाने से महज 600 मीटर की दूरी पर हुआ वारदात

ग़ौरतलब है कि यह घटना दिन के 3:00 बजे घटी और कंकड़बाग थाने से महज 600 मीटर की दूरी पर ही वारदात को अंजाम दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार नर्स सोनी अस्पताल से एक युवक के साथ हॉस्टल लौट रही थी। इस दौरान जब वह पीसी कॉलोनी के साईं नेत्रालय के पास पहुंची तो साथ चल रहे युवक न्यूज़ पर चाकू से हमला किया और फरार हो गया। वारदात के वक्त घटनास्थल के आसपास मौजूद दुकानदार एवं अन्य लोगों ने उसकी मदद नहीं की और वह सड़क पर तड़पती रही। उसी वक्त वहां से गुजर रहे एक महिला ऑफिसर ने उसे तड़पता देखकर अपने बॉडीगार्ड के द्वारा उसे वैदयम अस्पताल भिजवाया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

एक बार फिर दिन दहाड़े राजधानी पटना में हुई वारदात ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा दिए हैं। ज्ञात हो कि विगत शुक्रवार की रात एसएसपी राजीव मिश्रा ने शहर के सभी थानेदारों के साथ बढ़ते हुए अपराधिक घटनाओं को रोकने के उद्देश्य क्राइम मीटिंग की थी। लेकिन इसके बावजूद भी आज दिनदहाड़े नर्स पर हमला किया गया।

Leave a Response