धूमधाम से संपन्न हुआ लोक आस्था का महापर्व छठ, घाटों पर स्वच्छता व व्यवस्था से संतुष्ट दिखे श्रद्धालु

share on:

बिहार में 4 दिवसीय छठ महापर्व धूमधाम से संपन्न हुआ। श्रद्धालियों ने अस्ताचलगामी एवं उदीयमान भगवान भास्कर को अर्ध्य देकर छठ पूजा का समापन किया। यह पर्व बिहार में विशेष महत्व रखती है और इसे धार्मिक और सांस्कृतिक अनुष्ठान के रूप में मनाया जाता है।सूर्य को अर्ध्य देने के साथ ही लोक आस्था के चार दिवसीय इस महापर्व का सोमवार को समापन हो गया। इस पर को मनाने के लिए विभिन्न छठ घाटों पर आस्था का जन सैलाब उमड़ पड़ा।

राजधानी पटना के विभिन्न घाटों पर देखने लायक नजारा था। हर जगह सिर्फ श्रद्धालु ही दिख रहे थे। सोमवार की अहले सुबह जैसे ही पूर्व से सूर्य की लालिमा दिखाई दी लोग धन्य- धन्य हो गए फिर अर्ध्य देने का सिलसिला शुरू हुआ। गंगा के तट पर कोई गंगाजल तो कोई दूध से भगवान भास्कर को अर्ध अर्पित किया।

व्रतियों ने जल में रहकर काफी देर तक भगवान् सूर्य की आराधना की। इससे पहले रविवार को जल अर्पित किया गया। छठ मनाने के लिए लोग घर से घाटों तक नंगे पांव गए। अमीर गरीब ऊंच नीच का भेदभाव कहीं भी दिखाई नहीं दी। पूजा समिति ने सदस्यों द्वारा व्रतियों का खास ख्याल रखा जा रहा था।

इस दौरान पटना निवासी राजीव रंजन और उनकी पत्नी श्वेता सिंह ने इस बार छठ किया। उनका पूरा परिवार दीघा 88 नंबर के घाट पर आया था। जिसमें उनके बच्चे, आकाश सुप्रिया और आदर्श रंजन भी साथ में मौजूद थे। DDS NEWS7 से बात करते हुए उन्होंने बताया कि सरकार ने इस बार घाटों पर साफ-सफाई का उत्तम प्रबंध किया है और खास इंतजाम घाटों पर रखा। हर तरह से इस बार घाट सुरक्षित था।

Leave a Response