अब पेन किलर की जरूरत नहीं! नीडलिंग तकनीक से मिलेगी दर्द से निजात

share on:

आज के वर्तमान दौर में फिजियोथैरेपी चिकित्सा पद्धति काफी प्रगति कर रहा है। बदलती जीवन शैली एवं अन्य कारणों से कई प्रकार की बीमारियां जन्म लेती है। वहीं अब फिजियोथैरेपी चिकित्सा पद्धति भी दिन ब दिन नई तकनीक विकसित कर रही है जिससे कि बिना दवाइयां और पेन किलर के दर्द व बीमारियों से निजात मिलेगी।

इसी कड़ी में इंडियन हेड इंजरी फाउंडेशन के द्वारा राजधानी पटना के बुद्ध मार्ग स्थित फिजियोथैरेपी न्यूरो रिहैब सेंटर पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन सफलतापूर्वक किया गया। यह कार्यशाला फिजियोथेरेपिस्ट विभाग के ड्राई नीडलिंग तकनीक पर आधारित थी।

इस दौरान रिसोर्स पर्सन के रूप में जबलपुर के चर्चित भौतिक चिकित्सक डॉक्टर अभिषेक चादर एवं डॉ प्रशांत सिंह ने बिहार एवं झारखंड के विभिन्न जिलों से आए फिजियोथैरेपिस्टों को दर्द में कारगर ड्राई नीडलिंग तकनीक की जानकारी दी। कार्यशाला में बिहार और झारखंड से तकरीबन 100 की संख्या में डॉक्टरों ने शिरकत किए। इस सेमिनार में मुक्त स्पोर्ट्स इंजरी, मायोपिया पेन, रिवर प्वाइंट आदि में प्रभावी चिकित्सा तकनीक के तौर पर ड्राई नीडलिंग की उपयोगिता से फिजियोथैरेपिस्ट डॉक्टरों को अवगत कराया गया।

उक्त दो दिवसीय कार्यशाला के उद्घाटनकर्ता के रूप में डॉक्टर रोहित कुमार, डॉक्टर विवेक कुमार सिंह एवं डॉक्टर सूर्य शंकर कुमार ने मिलकर कार्यशाला को सफल बनाया।

Leave a Response